Google+ Followers

Sunday, 4 January 2015

अन्छेरी या मतारियों के जागर



अन्छेरी या मतारियों के जागर : अतृप्त अप्सराओं की आत्मा शांति हेतु जागर
तुम रैंदा ल़े तै दागुडिया गाँव , दिसई दागुडियो
तुम होली रौतों की बियाण , दिसई दागुडियो
चला बैणी मारछा काटण दिसई दागुडियो
चला बैणी मारछा कूटण दिसई दागुडियो
चला बैणी द्यू ह्वेगे उराड़ो, दिसई दागुडियो
तख़ ऐगे हुणिया को रथ दिसई दागुडियो
तुम पडीग्याँ हुणिया का रथ दिसई दागुडियो
सात बैणि एक छ भाई भड़ दिसई दागुडियो
चला बैणी बाटा का उडयारो दिसई दागुडियो
बाटा का उड्यारी टपकण्या पाणी दिसई दागुडियो
चला दागुडि बुरांसी का द्यूळ दिसई दागुडियो
तुम ह्वेगी पर्दा का धनी दिसई दागुडियो
चला बैणी सैणि खरसाली दिसई दागुडियो
कमर बांदी ऐड़ू की पुंगडि दिसई दागुडियो
चला बैणी तै उन्द गंगाड दिसई दागुडियो
तख़ हूंद जीरी बासमती दिसई दागुडियो
चला बैणी सैणि बड़ागडी दिसई दागुडियो
तख दीन्दा मऊ का बुखाणा दिसई दागुडियो
तख़ देंदा डब्लू का गौणु दिसई दागुडियो
तख़ देंदा पगड़ी का खाजा दिसई दागुडियो
तख़ देंदा छुणक्याळी दाथुड़ी दिसई दागुडियो
चला बैणि तै पावा वारसू दिसई दागुडियो
चला बैणी उच्चा रैथल दिसई दागुडियो
तख़ देंदा पोस्तु का छुम्मा दिसई दागुडियो
चला बैणी तै दागुडू गाँव दिसई दागुडियो
चला बैणी घर कै जौंला दिसई दागुडियो
तुम ह्वेग्याँ डांड़यूँ का आंछरी दिसई दागुडियो
सुवा पंखो त्वेकू मी साड़ी द्युलू
त्वे सणि लाड़ी मै गैणा द्यूंल़ू
नारंगी मै त्वेकू चोली द्युलू
सतरंगी त्योकू मि दुशाला द्योलू
सतनाजा त्योकू मि डीजी द्योलू
औंल़ा सरीको त्वे डोला द्योलू
सांकरी त्वेकू मि समूण द्योलू
झिलमिल आइना त्वे कांगी द्योलू
न्यूती की लाडली त्योकू बुलौलू
पूजिक त्वे साड़ी घर पठौल़ू

No comments:

Post a Comment